Text Size

Attunements

शक्तिपात.

शक्तिपात.

Postby pradeep_shaktawat » Mon Dec 27, 2010 1:36 pm

:F0
नमस्ते,
शक्तिपात वह प्रक्रिया हे जिस के द्वारा आप के शारीर में रेकी प्रवाह को शुरू किया जाता हे. आप के सहस्रार चक्र को उर्जा गृहण करने के लिए तैयार किया जाता हे तथा इस प्रक्रिया के पश्चात आप में उर्जा का प्रवाह शुरू हो जाता हे.

इस प्रक्रिया में आप का आभामंडल भी सही किया जाता हे, और अगर उसमे कुछ नकारात्मकता हो तो उसे दूर किया जाता हे.

THC पर कई प्रकार के शक्तिपात प्रदान किये जाते हे उन में से मुख्य निम्न हे...

1.) उसुई रेकी प्रथम,द्वितीय और तृतीय.
2.) कुन्डलीनी रेकी प्रथम, द्वितीय और तृतीय.
3.) आयुर्वेद रेकी प्रथम, द्वितीय और तृतीय.
4.) सूर्यशक्ति.

एक बार अगर आप में उर्जा का प्रवाह शरू हो गे तो वो जीवन भर रहता हे, शक्तिपात के लिए आवश्यक नहीं हे की आप किसी धर्म या इश्वर को माने, आप आस्तिक हो या नास्तिक आप शक्ति पात प्राप्त कर सकते हे.


और अधिक जानकारी चाहन्र हेतु कृपया रिप्लाय करे.

(FOR MORE INFORMATION IN HINDI PLEAS REPLY THE POST)
:F0
कुं. प्रदीप सिंह शक्तावत

"First Do, Then Talk"


Pradeep Singh Shaktawat
pradeep_shaktawat@yahoo.com
facebook.com/pradeep.singh.shaktawat
User avatar
pradeep_shaktawat
Hero Member
Hero Member
 
Posts: 764
Joined: Thu Oct 21, 2010 3:21 pm
Location: Udaipur,Rajasthan,India

Re: शक्तिपात.

Postby Nir_dhanak » Sat Mar 05, 2011 1:22 pm

नमस्ते,
मुझे कुंडालिनी रेकी हिँदी मे पढना है ।
आपका आभार ।
User avatar
Nir_dhanak
Jr. Member
Jr. Member
 
Posts: 97
Joined: Sat Jan 29, 2011 10:43 am


Return to Attunements

Who is online

Users browsing this forum: No registered users and 1 guest

User Menu

Login Form



Who is online

In total there is 1 user online :: 0 registered, 0 hidden and 1 guest (based on users active over the past 5 minutes)
Most users ever online was 98 on Thu Oct 25, 2012 10:11 am

Users browsing this forum: No registered users and 1 guest